एक्सरसाइज करने के टॉप 10 लाभ

एक्सरसाइज  करने के टॉप 10 लाभ

अच्छी जीवन शैली के लिए तन और मन का स्वस्थ होना अतिआवश्यक है. स्वस्थ रहने के लिए खुद पर ध्यान देना भी जरुरी है. स्वस्थ रखने का सबसे अच्छा विकल्प है व्यायाम. व्यायाम हमारे शरीर के लिए उतना जरुरी है जितना पानी, भोजन और हवा. वो कहते है न पहला सुख निरोगी काया. व्यायाम करने से हमारे शरीर को बहुत फायदे होते है जो हमारे स्वस्थ्य के लिए लाभदायी है. नियमित व्यायाम हमे जानलेवा बीमारियों की समस्या से बचाने में सक्षम होता है,और हम स्वस्थ रहते है तो मन प्रसन्न और उत्साहपूर्ण रहता है. जिससे हमारी जीवन शैली बेहतर बनी रहती है. इस लेख में नियमित व्यायाम करने के 10 फायदे उल्लेख किये है जो स्वस्थ जीवन के लिए अतिआवश्यक है.

नियमित एक्सरसाइज करने के टॉप 10 लाभ, जो आपके स्वास्थ्य के लिए अतिआवश्यक है

  • मन प्रसन्न
  • वजन पर नियंत्रण
  • सहन शक्ति बढ़ना
  • मांसपेशियों और हड्डियों में सहायक
  • बौद्धिक विकास
  • ऊर्जा स्तर बढ़ना
  • बीमारियों से मुक्त
  • मस्तिष्क स्वास्थ्य और स्मृति में सहायक
  • आराम और नींद की गुणवत्ता बढ़ना
  • त्वचा के स्वास्थ्य में सहायक

10मन प्रसन्न रहता है:

रोज़ाना व्यायाम करना स्वास्थ्य के लिए बेहद ही लाभदायक है. साथ ही, नियमित व्यायाम से मन प्रसन्न और खुशनुमा रहता है. कसरत करने से उन हिस्सों में परिवर्तन पैदा होता है जो तनाव और चिंता को नियंत्रित करते हैं। यह हार्मोन सेरोटोनिन और नॉरपेनेफ्रिन के लिए मस्तिष्क की संवेदनशीलता को भी बढ़ा सकता है. व्यायाम करने से मस्तिष्क में एंडोफ्रिन हार्मोन सक्रीय होता है जो हमारे मूड को बेहतर बना देता है. मूड अच्छा होना पर सकारात्मक विचार उत्पन्न होते है. खुद को तनाव और अवसाद से मुक्त करने के लिए व्यायाम बेहतर विकल्प है.

9वजन पर नियंत्रण:

जरुरी नही की अच्छा खान-पान या डाइट लेने से ही वजन कम होता हो, नियमित व्यायाम करने से भी वजन नियंत्रण में रहता है. कहते है न स्वस्थ और खुशहाल जीवन की कुंजी है व्यायाम. मोटापा आज-कल बहुत बड़ी समस्या बनता जा रहा है और कई लोग अपनी आदतों से इस पर नियंत्रण नही कर पाते इसलिए शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम उतना ही जरुरी है जितना हमे प्रतिदिन भोजन होता है. लोग वजन कम या नियंत्रण करने के लिए कई तरीके अपनाते है लेकिन व्यायाम वजन कम करने का सबसे अच्छा विकल्प है. व्यायाम करने से शरीर लचीला और मजबूत होता है और चर्बी कम करने में सक्षम होता है. यह पाचन क्रिया को ठीक करके कैलोरी बर्न करने में सहायक होता है.

8सहन- शक्ति बढ़ना:

अपने आस-पास ऐसे लोग देखे होंगे जो छोटी-छोटी बातो पर अपना आपा खो बैठते है और जल्दी ही गुस्सा हो जाते है. इन लोगो का मूड हमेशा ख़राब ही रहता है. ऐसे लोग गुस्से पर नियंत्रण नही करके कई ऐसी परिस्थिति पैदा कर देते है जिसमे या टो खुद का नुकसान कर बैठते है या किसी को दुखी कर देते है. अगर आप भी उनमे से एक है तो व्यायाम इस पर नियंत्रण करने का बेहतर विकल्प है. व्यायाम करने से हमारे मस्तिष्क में सेरोटोनि और एंडोफ्रिन जैसे हार्मोन सक्रीय होते है जो दिमाग को शांत बनाने में सक्षम होते है. जब मूड बेहतर होता है या अच्छा महसूस करते है तो सहन शक्ति बढ़ ही जाती है.

7मांसपेशियों और हड्डियों का मजबूत होना:

मांसपेशियों और हड्डियों का निर्माण करने में व्यायाम महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.व्यायाम करने से मांसपेशियों और हड्डियों पर काफी प्रभाव पड़ता है इससे यह मजबूत होती है. कसरत करने पर शरीर के अंदर हार्मोन्स उत्पन्न होने है जो मांसपेशियों से अमीनो एसिड को अवशोषित करने की क्षमता को बढ़ा देते है। जिससे मांसपेशियों और हड्डियों मजबूत बनती है. जिन लोगो की उम्र बढती जाती है उनकी हड्डिया और मांसपेशियाँ कमजोर होती जाती है जिससे विकलांगता जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है. ऐसे लोगो के लिए व्यायाम बेहद ही सर्वोतम विकल्प है. इसके अलावा, व्यायाम शरीर में ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में भी मदद करता है.

6बौद्धिक विकास होना:

स्वस्थ व्यक्ति ही अपनी बुद्धि का सही इस्तेमाल करने में सक्षम होता है और गहन विचार से सकारात्मक परिणाम से सकता है. जरुरी नही की अर्थ, धर्म, मोक्ष और काम से ही बौद्धिक विकास हो, यह सब विशेष लोगो की बाते है. जब व्यक्ति तन और मन से ही स्वस्थ नही होगा तो वह किसी भी प्रकार का विचार करने और सोचने-समझने में सक्षम नही होता है. इसलिए जीवन की अच्छी- बुरी चीजों को समझने के लिए तन और मन से स्वस्थ होना आवश्यक है, और मन को स्वस्थ रखने के लिए तन को स्वस्थ रखना जरुरी है. इसके लिए व्यायाम करना सर्वोतम उपाय है. व्यायाम करने से तन और मन दोनों के स्वास्थ्य में वृद्धि होती है जिससे बौद्धिक विकास होता है जो जीवन शैली के लिए जरुरी है.

5ऊर्जा स्तर बढ़ना:

नियमित व्यायाम ऊर्जा स्तर को बढाने और बनाये रखने में बहुत सहायक होता है. व्यायाम करने से उचित मात्र में ऑक्सीजन मिलती है. साथ ही, शरीर में खून का संचार ठीक तरह से हो पाता है. ऊर्जा का स्तर नही बढ़ने से दिन आलस्यभरा लगता है जिससे किसी काम में मन नही लगता. लेकिन रोजाना व्यायाम करने से आप ऊर्जा और उत्साह से भरे रहते है.

4बीमारियों से मुक्त:

अच्छा खान-पान न होने और खराब जीवन शैली से कई प्रकार की बीमारियों की समस्या से गुजरना पड़ता है. ऐसे में अगर आप रोजाना व्यायाम करते हो तो बीमारियों की समस्या की संभावना कम हो जाती है. यहाँ तक की अगर आपके कोई बीमार है तो व्यायाम के माध्यम से उससे छुटकारा पाना संभव है. नियमित व्यायाम से आप कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से निजात पा सकते है. इसके अलावा, व्यायाम से ब्लड प्रेशर, हार्ट समस्या, शुगर की समस्या और वजन बढ़ना जैसी समस्याओ से बचा जा सकता है. नियमित कसरत करने से रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है, और शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम हो जाता है.

3मस्तिष्क स्वास्थ्य और स्मृति में सहायक:

प्रतिदिन का व्यायाम मस्तिष्क शक्ति और याददाश्त शक्ति को बढाने में सहायक है. नियमित व्यायाम मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह में सुधार करता है और मस्तिष्क स्वास्थ्य और स्मृति में मदद करता है। साथ ही, यह हार्मोन के उत्पादन को भी उत्तेजित करता है जिससे मस्तिष्क कोशिकाओं का विकास होता है। पुराने वयस्कों के बीच, यह मानसिक कार्य को बचाने में मदद कर सकता है। मस्तिष्क स्वास्थ्य का अच्छी जीवन शैली के लिए अतिआवश्यक है, जिसे व्यायाम के माध्यम से पूर्ण किया जा सकता है.

2आराम और नींद की गुणवत्ता बढ़ना:

जब आप शारीरिक काम करते है तो निश्चित है आपको नींद अच्छी आएगी. व्यायाम करते समय शारीरिक परिश्रम लगता है जिससे थकन महसूस होती है और हम थकावट की वजह से गहरी नींद ले पाते है. व्यायाम के दौरान होने वाली ऊर्जा की कमी नींद के दौरान पुनरावर्ती प्रक्रियाओं को उत्तेजित करती है. जब रात को पर्याप्त नींद ले पाते है तो सुबह उठने में आलस्य नही आता और हम उर्जावान रहते है. जब ऊर्जावान रहते है तो रोजमर्रा के कार्य अच्छे से करने में सक्षम होते है.

1त्वचा के स्वास्थ्य में सहायक:

नियमित व्यायाम करने से त्वचा के स्वास्थ्य में कई प्रकार के लाभ मिलते है. आपकी त्वचा आपके शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव की मात्रा से प्रभावित हो जाती है। ऑक्सीडेटिव तनाव तब होता है जब शरीर के एंटीऑक्सिडेंट बचाव कोशिकाओं को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान की पूरी तरह से मरम्मत नहीं कर रहे हैं। नियमित रूप से व्यायाम आपके शरीर के प्राकृतिक एंटीऑक्सिडेंट का उत्पादन बढ़ा सकता है, जो कोशिकाओं की रक्षा करने में मदद करता है. व्यायाम रक्त के प्रवाह को उत्तेजित करता है और त्वचा कोशिका के अनुकूलन को प्रेरित करता है. इसलिए व्यायाम करने से त्वचा पर तेज और चमक बढ़ जाती है जिससे त्वचा सुंदर और स्वस्थ दिखती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ENGLISH