India के 10 तेज़ी से बढ़ते हुए शहर

India के 10 तेज़ी से बढ़ते हुए शहर

ग्लोबल इकोनॉमिक्स द्वारा किये गये सर्वेक्षण के परिणाम स्वरुप विश्व के तेज़ी से वृद्धि कर रहे शहरों की सूची जारी की गई है. रिपोर्ट में दुनिया भर के शहरों को रैंक किया गया है, जो अगले 20 वर्षों में साल-दर-साल सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में सबसे अधिक वृद्धि होगी। वैश्विक आर्थिक शोध रिपोर्ट के अनुसार, 20 साल में तेजी से बढ़ने वाले शहरो में भारत के शहरो का भी प्रभुत्व होगा. इन पोस्ट में भारत के उन 10 शहरो का उल्लेख है जो ग्लोबल इकोनॉमिक्स की रिपोर्ट के अनुसार 2019 से 2035 तक सबसे तेजी से बढ़ने वाले शहरो की सूची में शामिल है.

2019 से 2035 तक भारत में शीर्ष 10 सबसे तेजी से बढ़ते शहर

  • सूरत
  • बेंगलुरु
  • आगरा
  • नागपुर
  • हैदराबाद
  • राजकोट
  • तिरुचिरापल्ली
  • चेन्नई
  • विजयवाड़ा
  • तिरुपूर

शहर: सूरत

राज्य: गुजरात

गुजरात राज्य का सूरत सबसे बड़ा शहर होने के साथ-साथ विकसित वाणिज्यिक केंद्रों में से एक है. इसे ‘भारत की कढ़ाई राजधानी’ के रूप में जाना जाता है. सूरत दक्षिण गुजरात का आर्थिक भी केंद्र है, जो अपने हीरों और वस्त्र उद्योग के लिए प्रसिद्ध है. यह शहर भारत में सबसे तेजी से बढ़ते शहरों में से एक माना जाता है. यहाँ तक की इकॉनोमिक टाइम्स द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, यह 2019 से 2035 तक दुनिया का सबसे तेजी से विकसित होने वाला शहर होगा। 2019 से 2035 के बीच सूरत जीडीपी विकास दर 11.5% के साथ दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ने वाला शहर है. 2013 में भारत के सिटी-सिस्टम्स के वार्षिक सर्वेक्षण के अनुसार, सूरत को ‘सर्वश्रेष्ठ शहर’ का दर्जा मिला।

शहर- बेंगलुरु

राज्य- कर्नाटक

कर्नाटक राज्य की राजधानी बैंगलोर भारत गणराज्य का तीसरा सबसे बड़ा शहर और पांचवा सबसे बड़ा महानगरीय क्षेत्र है। बैंगलोर की 47.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था चलते यह भारत देश का प्रमुख आर्थिक केंद्र है। बेंगलूर भारत के सूचना प्रौद्योगिकी निर्यातों का अग्रणी स्रोत रहा है, इसी कारण से इसे ‘भारत का सिलिकॉन वैली’ कहा जाता है। भारत की दूसरी और तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनियों का मुख्यालय भी इसी सिटी में है। बैंगलोर सबसे अधिक उत्पादक मेट्रो शहर और भारत में दूसरा सबसे तेजी से बढ़ने वाला महानगर है, जो सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाले उपभोक्ता सामान बाजार में से एक है।

शहर- आगरा

राज्य- मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश का आगरा शहर भारत के सबसे खुबसूरत महल ‘ताजमहल’ को अपने आप समेटे रहने के लिए विश्वभर में जाना जाता है. यह भारत में एक नगरपालिका सरकार के साथ एक शहर है। यह आगर मालवा जिले के लिए प्रशासनिक मुख्यालय है जो 2013 में शाजापुर जिले के एक हिस्से से बनाया गया था। आगरा शहर भारत देश के मुख्य पर्यटक स्थलों में से एक है यहाँ हर साल कई आगुन्तक आते है. आगरा में ताजमहल और ऐतिहासिक स्मारकों आगरा किले की उपस्थिति के साथ भारत में एक तेजी से बढ़ता पर्यटन उद्योग है। जिसके चलते यह शहर 2019 से 2035 तक भारत में 10 सबसे तेजी से बढ़ते शहरो में से एक होगा.

शहर- नागपुर

राज्य- महाराष्ट्र

नागपुर शहर महाराष्ट्र राज्य का प्रमुख शहर है. नागपुर भारत का 13वां व विश्व का 114 वां सबसे बड़ा शहर हैं। इस शहर को ‘संतरों की नगरी’ के नाम से भी जाना जाता है, क्योकि यह संतरों के लिए काफी लोकप्रिय है. इस शहर को हरियाली, जीवन की गुणवत्ता और जीवन यापन के आसानी के मामले में भारत के सबसे सुरक्षित और सबसे अच्छे शहर में से एक माना गया है। नागपुर भारत में महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित शहर भी माना गया है। बढ़ते इन्फ्रास्ट्रकचर की वजह से नागपुर की गिनती जल्द ही महानगरों में की जायेगी। साथ ही, 8.41 की औसत वृद्धि के साथ 2019-2035 तक, नागपुर भारत में सबसे तेजी से बढ़ता हुआ शहर होगा.

शहर- हैदराबाद

राज्य- तेलंगाना

‘निज़ाम का शहर’ और ‘मोतियों का शहर’ के रूप में जाने जाना वाला शहर हैदराबाद तेलंगाना राज्य की राजधानी है. भारत में सूचना प्रौधोगिकी एवं जैव प्रौद्यौगिकी का केन्द्र बनता जा रहा है। यह शहर राज्य के सकल घरेलू उत्पाद, कर और राजस्व का सबसे बड़ा योगदानकर्ता है। इस शहर में यातायात, वाणिज्य, व्यापार, भण्डारण, संचार, सभी सम्मिलित हैं। हैदराबाद औषधीय उद्योग का भी एक प्रमुख केन्द्र है. हैदराबाद शहर अपनी सूचना प्रौद्योगिकी एवं आई टी एनेबल्ड सेवाएं, औषधि, मनोरंजन उद्योग के लिये भी बहुचर्चित है। हैदराबाद शहर को फेसबुक, माइक्रोसॉफ्ट और ऐप्पल जैसे वैश्विक समूह के लिए सूचना प्रौद्योगिकी, दवा और घर विशेष आर्थिक क्षेत्रों के सेवा उद्योग द्वारा बढ़ावा दिया गया है। इकॉनोमिक टाइम्स द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, यह 2019 से 2035 तक दुनिया का सबसे तेजी से विकसित होने वाले शहरो की सूची में शामिल है.

शहर- राजकोट

राज्य- गुजरात

राजकोट गुजरात राज्य के प्रमुख शहरो में से एक है. राजकोट का सोनी बाज़ार सोने का सबसे बड़ा बाज़ार है। यह शहर इंजीनियरिंग एवं वाहन पुर्जों के उत्पादन के लिए भी जाना जाता है। राजकोट छोटे ट्रैक्टरों के उत्पादन के मामले में भी प्रमुख केंद्र के रूप में उभर रहा है। यह शहर सीएनसी मशीन निर्माताओं के लिए आभूषण, रसोई के चाकू, रेशम कढ़ाई और घर का योगदानकर्ता है। जुलाई 2019 तक दुनिया में 22 वां सबसे तेजी से बढ़ता शहर है, और इकॉनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार यह 2019 से 2035 तक, भारत देश में सबसे तेजी से उभरते हुए शहरो में से एक होगा।

शहर: तिरुचिरापल्ली

राज्य: तमिलनाडु

तिरुचिरापल्ली तमिलनाडु राज्य का एक प्रमुख स्तरीय शहर है, और यह जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है। तमिलनाडु के इस शहर को त्रिची (स्वर्ग का शहर) भी कहा जाता है. यह शहर तमिलनाडु राज्य में एक महत्वपूर्ण शैक्षिक केंद्र है जिसमें भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, भारतीय प्रबंधन संस्थान और तमिलनाडु राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय जैसे राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त संस्थान शामिल है. तिरुचिरापल्ली अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ट्रिचिनोपोली सिगार के रूप में जाना जाने वाले चेरूट के एक ब्रांड के लिए जाना जाता है. दुनिया का सबसे पुराना बांध “कल्लनई बांध” भी इसी शहर में स्तिथ है. यह तमिलनाडु राज्य के सबसे प्रमुख ऐतिहासिक स्मारकों का घर है. यह शहर औद्योगिक, निर्माण, ऊर्जा निर्माण इकाइयां और उपकरण कारखाने भी अपने आप में समेटे हुए हैं। इस शहर में बेहतरीन विकास के चलते यह इकॉनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार 2019 से 2035 तक भारत में टॉप 10 सबसे तेजी से बढ़ते शहरो में से एक होगा.

शहर- चेन्नई

राज्य- तमिलनाडु

तमिलनाडु राज्य का चेन्नई शहर भारत के सबसे बड़े आर्थिक, सांस्कृतिक और शैक्षिक केंद्रों में से सबसे प्रमुख है। चेन्नई शहर मेट्रोपॉलिटन एरिया भारत की सबसे बड़ी शहर अर्थव्यवस्थाओं में शामिल है। चेन्नई को “भारत का डेट्रोइट” नाम दिया गया है. चेन्नई प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद में तीसरा सबसे बड़ा मेजबान है। साथ ही, यह शहर चिकित्सा पर्यटन, सॉफ्टवेयर सेवाओं और उद्योगों जैसे पेट्रोकेमिकल्स और एपरेल्स के लिए जाना जाता है। इकॉनोमिक टाइम्स द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, चेन्नई 2019 से 2035 तक सबसे तेजी से विकसित होने वाले शहरो में से एक है.

शहर- विजयवाड़ा

राज्य- आंध्रप्रदेश

आंध्र प्रदेश के पूर्व-मध्य में कृष्णा नदी के तट पर स्थित विजयवाड़ा शहर भारतीय शहरों में सबसे बड़े सकल घरेलू उत्पाद में से एक है। यह आंध्र प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा आबादी वाला शहर है। यह शहर आंध्र प्रदेश की वाणिज्यिक राजधानी के रूप में भी जाना जाता है. इसके अलावा, विजयवाड़ा शहर एचपीसीएल, बीपीसीएल और आईओसी कंपनियों के लिए पेट्रोलियम उत्पादों के भंडारण के लिए एक प्रमुख केंद्र है. वाणिज्यिक और आर्थिक विकास के परिणामस्वरुप विजयवाड़ा भारत के सबसे तेजी से बढ़ने वाले शहरो में से एक है.

शहर- तिरुपुर

राज्य- तमिलनाडु

तमिलनाडु राज्य का तिरुपुर जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है और इसे ‘वस्त्रो के शहर’ के नाम से भी जाना जाता है। यह शहर विशेष रूप से अकुशल अस्थायी श्रमिकों के लिए भारी मात्रा में रोजगार के मौक़े पैदा करता है। यह भारत का एक महत्वपूर्ण व्यापारिक केंद्र है। तीन दशकों के से तिरुपूर भारत देश में बुने हुए वस्त्रों की राजधानी के रूप में उभरा है। यह भारत में विदेशी मुद्रा की एक विशाल राशि का योगदान देता है। इस शहर में वॉलमार्ट, प्राइमर आयात वस्त्र और कपड़े जैसे सबसे बड़े खुदरा विक्रेता हैं। जलवायु और कच्चे माल और कार्य बल की उपलब्धता के कारण, यह शहर इकॉनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार 2019 से 2035 तक भारत में टॉप 10 सबसे तेजी से बढ़ते शहरो में से एक होगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ENGLISH