10 बातें Corona Virus के बारे में जो बहुत कम लोग जानते है

10 बातें Corona Virus के बारे में जो बहुत कम लोग जानते है

वर्तमान में, कोरोनावायरस हर जगह पर चर्चा का विषय बना हुआ है. इसके चलते कई लोगो की जान भी जा चुकी है. कोरोनावायरस चीन में फैला हुआ एक वायरस है जिसकी चपेट में कई लोग आ चुके है. नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, इस वायरस ने चीन में 2700 लोगों को प्रभावित किया है और लगभग 106 लोग मर गए है. कोरोनोवायरस एक तरह का सामान्य वायरस है जो आपकी नाक, साइनस या ऊपरी गले में संक्रमण का कारण बनता है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि 976 मरीजों की स्थिति गंभीर बनी हुई है और कुल 6,973 लोगों के वायरस से संक्रमित होने का संदेह बना हुआ है. यह वायरस पहली बार 2012 में सऊदी अरब और फिर मध्य पूर्व, अफ्रीका, एशिया और यूरोप के अन्य देशों में दिखाई दिया. जब इसके संक्रमण से लगभग 858 लोग मारे गए थे. अब इस वायरस की पहुंच संयुक्त राज्य अमेरिका तक बताई गई है।

  • क्या है कोरोनावायरस?
  • इसके लक्षण
  • इसके बचाव के उपाय
  • यह उत्पन्न कहां से हुआ ?
  • इस वायरस के घातक तनाव
  • इसके प्रसार जाँच के लिए उठाये गए कदम
  • चीन में कोरोनावायरस के पीडितो के लिए बना नया अस्पताल
  • भारत पर कोरोना वायरस का असर
  • कोरोनावायरस के कारण अर्थव्यवस्था पर असर
  • अन्य देशों में कोरोनावायरस

10क्या है कोरोनावायरस?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के अनुसार, कोरोनावायरस सी-फूड से जुड़ा है। इस वायरस की शुरुआत बालना के हुवेई प्रांत के वुहान शहर के एक सी-फूड बाजार से मानी जा रही है। कोरोनावायरस से पीड़ित व्यक्ति को सबसे पहले सांस लेने में कठिनाई, जुकाम, खांसी, गले में दर्द और बुखार होता है। यह लिन निमोनिया का रूप ले सकता है और निमोनिया किडनी से जुड़ी कई तरह की समस्याओ को बढ़ा सकता है। इस वायरस का सबसे नकारात्मक असर यह है कि यह किसी भी पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है। इसे नियंत्रित करना और अधिक कठिन है.

9इसके लक्षण-

कोरोनावायरस से संक्रमित होने के दौरान सबसे पहले सांस लेने में दिक्कत होती है, उसके बाद झुकाम, खांसी, नाक बहना, गले में खराश और दर्द और बुखार होने लगता है. यह बुखार धीरे-धीरे निमोनिया का रूप ले लेता है, जो कि किडनी से जुड़ी तमाम परेशानियों को बढ़ावा देता है. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तेज़ी फैलता है. इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है.

8इसके बचाव के उपाय-

कोरोना वायरस से बचाव को लेकर अभी कोई वैक्सीन नही बनी है और न ही इसके टिके है. लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, सी फ़ूड के सेवन से बचे. कहीं भी बाहर से आने या कुछ भी खाने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह साफ करें. अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है. खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें. जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. अंडे और मांस के सेवन से पहरेज रखे. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें.

7यह उत्पन्न कहा से हुआ ?

हाल ही में किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि चीन की   हुआनन सी फूड मार्केट से ये कोरोना वायरस उत्पन्न हुआ है. चीन के अधिकारियों का मानना है कि ये वायरस इसी मार्केट में मिले किसी जानवर से आया है. पेकिंग यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने पाया कि यह वायरस बाज़ार में मिलने वाले सांप में से किसी मनुष्य में प्रवेश हुआ है. यह वायरस सबसे पहले हुआंग नामक 23 वर्षीय व्यक्ति में हुआ है, जिसे इस वायरस से बचा लिया गया है. रिपोर्टो के अनुसार, हुआंग ट्रेन स्टेशन पर काम करता है, जो कि सीफूड मार्केट के पास ही है, वहा से वह इस वायरस की चपेट में आया था. इस वायरस की पहचान होने के बाद डॉक्टरों ने हुआंग का इलाज आईसीयू में किया और वो सुरक्षित है.

6इस वायरस के घातक तनाव –

अब तक, प्रकोप के कारण 106 लोगों की मौत हो गई है और कई लोग संक्रमित हो गए हैं। इसमें यह एक नया तनाव है की इसका कोई विशिष्ट टीका नहीं है जो इसका इलाज कर सके। हालांकि, डब्ल्यूएचओ के अनुसार, “कई लक्षणों का इलाज किया जा सकता है और इसलिए रोगी की नैदानिक स्थिति के आधार पर उपचार किया जाता है”।

5इसके प्रसार जाँच के लिए उठाये गए कदम-

चीनी चंद्र अवकाश के कारण, वायरस फैलने की आशंका बढ़ गई है क्योंकि लोग विदेश यात्रा करते हैं। हालांकि, वायरस के फैलने की आशंकाओं का जवाब देते हुए, चीन ने एक तालाबंदी के तहत वुहान शहर के नवीनतम प्रकोप का स्रोत रखा है।

चीनी स्वास्थ्य समिति ने कहा कि संक्रमित रोग के स्रोत की जांच, संक्रमण का रास्ता, वायरस की जांच और फैलाने में आए परिवर्तन आदि पर जोर दिया जाएगा, साथ ही अंतर्राष्ट्रीय आदान-प्रदान और सहयोग को मजबूत किया जाएगा, विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ), संबंधित देशों, हांगकांग, मकाओ और थाईवानी क्षेत्र के बीच रोग से संबंधित स्थिति को लेकर संपर्क को मजबूत किया जाएगा, रोग की रोकथाम और नियंत्रण कदम पर विचार-विमर्श करके उसे संपूर्ण किया जाएगा. वहा पर सभी निवर्तमान उड़ानों को निलंबित कर दिया है और शहरी परिवहन नेटवर्क को बंद कर दिया है।

4चीन में कोरोनावायरस के पीडितो के लिए बना नया अस्पताल-

चीन में 110 लाख की आबादी वाले वुहान शहर से ही इस घातक वायरस का फैलना शुरु हुआ था. वुहान में अस्पतालों की स्थिति फिलहाल चिंताजनक हैं, वहां मरीज़ों की भीड़ लगी हुई है. चीनी सरकार कोरोनावायरस के पीडितो के लिए एक अलग अस्पताल का निर्माण कर रही है. यह अस्पताल 1000 बेड वाला है.

जहा इस ख़ास बीमारी का इलाज किया रहा है और इसमें इस वायरस से संक्रमित लोग ही आएंगे. इस कारण यहां सुरक्षा इंतज़ाम मौजूद होंगे. स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे बनाने का आदेश दिया था और दूसरे अस्पतालों से नर्सों और मौजूदा स्वास्थ्य सुविधाओं के लगे अन्य डॉक्टरों को यहां काम पर लगाया गया था. उनके पास संक्रामित मरीज़ों की पहचान, ख़ासकर सार्स संक्रमित और मरीज़ों के इलाज के लिए ज़रूरी दिशानिर्देश थे.

3भारत पर कोरोना वायरस का असर-

अब तक, भारत में कोरोनावायरस का कोई गंभीर मामला सामने नहीं आया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने चीन के यात्रियों से निकटतम स्वास्थ्य सुविधा के बारे में रिपोर्ट करने के लिए कहा है। कोरोना वायरस को लेकर जारी चिंता के बीच भारत समेत विश्वभर के हवाईअड्डों पर चीन से आने वाले यात्रियों की जांच हेतु इंतजाम किए जा रहे हैं. मंत्रालय ने दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद और कोचीन के सात हवाई अड्डों पर अधिकारियों से कहा है कि वे चीन से यात्रा करने वालों की स्क्रीनिंग करें। मुंबई और जयपुर सहित देशभर में सात संदिग्ध मरीजों की पहचान हुई है. इन सभी को डॉक्टरों की विशेष निगरानी में रखा गया है. बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिलों को कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट जारी किया है.

2कोरोनावायरस के कारण अर्थव्यवस्था पर असर-

कोरोनावायरस के गंभीर परिणामस्वरूप चीन में नववर्ष की छुट्टियां बढ़ा दी गई है. इस वायरस के चलते पर्यटकों की संख्या घट सकती है. इसका सीधा असर चीन की अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा. रिपोर्टों के अनुसार, चीनी और हांगकांग के शेयरों में गुरुवार को गिरावट आई है. यदि वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल के रूप में प्रकोप की घोषणा करता है, तो यह मुख्य रूप से मनोरंजन, यात्रा, आतिथ्य क्षेत्रों को प्रभावित करने वाले वैश्विक निवेशक भावना को प्रभावित कर सकता है।

1अन्य देशों में कोरोनावायरस-

चीन के अलावा, थाइलैंड में सात मामले, जापान में तीन, दक्षिण कोरिया में तीन, वियतनाम में दो, अमेरिका में तीन, मलेशिया में तीन, सिंगापुर में चार, नेपाल में एक, फ्रांस में तीन, ऑस्ट्रेलिया में चार और श्रीलंका में कोरोना वायरस का एक मामला सामने आया है. चीन इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ENGLISH