10 चीज़े जिन्हे आप Muscle Building/GYM करते समय ना करे

10 चीज़े जिन्हे आप Muscle Building/GYM करते समय ना करे

आज-कल सभी सक्रीय और शारारिक विकास के लिए जिम का सहारा लेने लगे. लेकिन अब लोगो को एब्स और मसल्स बढ़ाने जैसा चसका लगा हुआ है. लोग मांसपेशियों को विकसित करने के लिए वर्क आउट तो शुरू कर देते है लेकिन बहुत कम लोग विकसित करने की तथ्यों के बारे में नही जानते और कई गलतिया कर बैठते है. जब मांसपेशियों के निर्माण की बात आती है तब बहुत सी चीज़े है जो ध्यान रखने योग्य होती है. बढ़ी हुई मांसपेशियों के साथ बेहतर मुद्रा, संयुक्त सुरक्षा, बेहतर चयापचय, मजबूत हड्डियों, एथलेटिक क्षमता और संतुलन का अनुभव करेंगे। इसलिए कुछ ऐसे चीज़े है जिनकी गलतिया मसल्स विकसित करने के दौरान न करे. इस लेख में टॉप 10 चीजों को उल्लेख जिन्हें आप मसल्स बनाने के दौरान टाले.

चीज़े जिन्हे Muscle बनाने की कोशिश करते समय टाले

  • अधिक तीव्रता वाला कार्डियो
  • उपवास/ बहुत अधिक समय तक भूखा रहना
  • शराब पीना
  • नींद की उपेक्षा
  • 1शारीरिक भाग पर प्रति सप्ताह अभ्यास
  • तेजी से वजन कम करना
  • जल्द भार उठाना
  • खुराक लेना
  • कम आहार लेना
  • अधिक कार्ब्स

10अधिक तीव्रता वाला कार्डियो:

बहुत लोगो का मनाना है की बहुत अधिक समय जिम में बिताने या बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने पेशिया और बॉडी जल्द विकसित हो जाती है. लेकिन ऐसा नही है क्योकि किसी भी चीज़ की अति नुकसान ही पहुचाती है. मसल्स बनाते समय अधिक कार्डियो करने से परहेज करे. क्योकि यह मांसपेशियों के लिए हानिकारक भी साबित हो सकता है.

लोगो ने धारणा बना रखी है की दो-तीन घंटे कार्डियो करने और खुद को भूखा रखने से वे अपनी वसा पिघलाने में सक्षम होंगे. बहुत अधिक कार्डियो आपके शरीर को एक कैटोबोलिक स्थिति में डाल देगा. इससे मांसपेशियों को नुकसान ही नही पहुचेगा बल्कि उनकी ताकत भी कम हो जायेगी. इसलिए मसल्स को विकसित करते समय लगभग 60-70 मिनिट से ज्यादा कार्डियो को समय न दे.

9उपवास/ बहुत अधिक समय तक भूखा रहना:

मसल्स बनाने के समय के दौरान उपवास और बहुत अधिक समय तक भूखा रहने वाली आदतों को टाले. शरीर में कई कार्यो को करनें के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है. वैसे ही मसल्स बनाते समय प्रोटीन की आवश्यकता होती है. जिम में वर्क आउट करने से मांसपेशियों के तंतु सूक्ष्म के रूप टूट जाते है और जब उनकी मरम्मत की जाती है तो वे बड़े निर्माण के साथ विकसित होती है. और समय के साथ-साथ मांसपेशिया बढती है. मांसपेशियों के ऊत्तको के पुनर्निर्माण और मरम्मत के लिए पर्याप्त प्रोटीन की आपूर्ति की आवश्यकता होगी इसलिए उपवास जैसी चीजों को टाले. यदि आप 150 पाउंड वजन करते हैं तो आप एक दिन में लगभग 120 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है.

8शराब पीना:

एक कसरत के बाद आराम की अवधि के दौरान, एमपीएस काफी ऊंचा हो जाता है इस परिस्थिति में मांसपेशियों के विकास के लिए पोष्टिक पोषण की आवश्यकता होती है। लेकिन इस समय में आप जब शराब लाभ को लेना उत्तम समझोगे तो यह आपकी मांसपेशियों को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है। शराब की खपत मांसपेशियों के विकास में हस्तक्षेप करती है। एक शोध में भी यह पाया गया की वर्कआउट के बाद शराब एक उपयुक्त रिकवरी प्रोटोकॉल का पालन करने की व्यक्ति की क्षमता को खत्म कर देती है. इसलिए मसल्स को विकसित करने के दौरान शराब के सेवन से परहेज करे.

7नींद की उपेक्षा:

नींद आपके मसल्स के विकास के मार्ग में एक बाधा के रूप में काम करती है. नींद के दौरान प्रोटीन के टूटने को नियंत्रित करने के लिए शरीर का कठिन समय होता है। यह मांसपेशियों के विकास के लिए समस्याग्रस्त साबित हो सकता है क्योंकि हमारे शरीर को अपने घटक अमीनो एसिड में प्रोटीन को तोड़ना पड़ता है, इससे पहले कि वे नए मांसपेशियों के ऊतकों को बनाने के लिए उन्हें पुनर्संयोजित कर सकें। अधिक नींद की आदत से ऊर्जा का स्तर नीचे गिर जाता है.

6 एक ही शारीरिक भाग पर प्रति सप्ताह अभ्यास:

मसल्स विकसित करते समय प्रति सप्ताह शरीर के एक हिस्से पर प्रशिक्षण न करे. यह आपके मांसपेशियों के विकास के लिए उत्तम नही है. प्रत्येक शरीर के भाग को प्रति सप्ताह 2 या 3 बार प्रशिक्षित करना प्रयाप्त है। यह स्थिति आवृत्ति तीव्रता, तंत्रिका तंत्र और संयोजी ऊतक को संतुलित करने में सक्षम होती है. तीव्रता मांसपेशी प्रोटीन संश्लेषण को प्रभावित करती है. यदि आप मांसपेशियों की बड़े पैमाने पर मात्रा हासिल करना चाहते हैं तो आप अलग-अलग प्रशिक्षण लें.

5तेजी से वजन कम करना:

तेजी से वजन कम करना मांसपेशियों के विकास के लिए समस्याग्रस्त हो सकता है. अध्ययन के अनुसार, धीमी, स्थिर गति से वजन कम करना बेहतर है। जो लोग धीरे-धीरे वजन कम करते हैं, वे इसे लंबे समय तक बंद रखने की अधिक संभावना रखते हैं। कई विशेषज्ञों के अनुसार, प्रति सप्ताह 1-2 पाउंड वजन कम करना एक स्वस्थ और सुरक्षित दर है. तेजी से वजन कम करने के कारण आपको कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जैसे पित्त पथरी, मांसपेशियों की हानि, पोषण संबंधी कमियां और चयापचय में गिरावट आदि. एक बार जब आपका शरीर अपने ग्लाइकोजन स्टोर का उपयोग करता है, तो आपके वजन में कमी प्रति सप्ताह 0.45–0.9 किलोग्राम पर स्थिर होनी चाहिए। मांसपेशियों के निर्माण से पहले या बाद में आप अपना वजन कम कर सकते हैं।

4जल्द भार उठाना:

मसल्स के विकास के दौरान जल्द ही ज्यादा भार उठाने को टाले, क्योकि यह मांसपेशियों के विकास के लिए लाभदायी नही है. जब आप मांसपेशियों के निर्माण के लिए अभ्यास शुरू करते है तब महत्वपूर्ण है की आप गति से वज़न उठाते हैं. आपकी मांसपेशियों को तनाव के तहत समय की आवश्यकता होती है क्योंकि आपके मांसपेशियों के तंतुओं को पूर्ण प्रतिरोध मिलता है और मांसपेशियों की सतह होती है। मांसपेशियों के विकास के लिए, आप कम से कम 30 से 45 सेकंड तक सेट कर सकते है.

3खुराक लेना:

मसल्स बनाने के दौरान खुराक नही लेनी चाहिए. कई लोग जल्दी ही मांसपेशिया विकसित करने के कारण कई उत्पादों का सेवन करते है जो मांसपेशियों के लिए बिलकुल भी उत्तम नही होते है. ऐसे उत्पाद शरीर को खोखला बना देते है भले ही ये आपको कुछ दिन के लिए मसल्स का विकास दे सकते है. लेकिन ये उत्पाद सिर्फ कुछ ही दिनों तक असर दिखाते है. मसल्स बनाने के दौरान आप प्रोटीनयुक्त और पौष्टिक आहार ले बजाय आर्टिफिशियल उत्पादों के. शरीर में विकास के लिए पौष्टिक आहार का बहुत महत्व है.

2कम आहार लेना:

जब मसल्स विकसित करते है आपको उचित और अधिक बार खाने की आवश्यकता होती है क्योकि जब बहुत समय तक जिम में गुजरते है तो शरीर को शक्ति प्रशिक्षण के तनाव से उबरने और ऊर्जा के लिए जलाने के लिए बहुत सारी कैलोरी की आवश्यकता होती है. जितनी ऊर्जा की खपत आप दिनभर में करते है उसके लिए कैलोरी उतना ही महत्व रखती है. अपने वर्कआउट के 30 मिनट के भीतर हाई-प्रोटीन स्नैक या शेक का सेवन करने से मांसपेशियों को लाभ पहुंचाने और रिकवरी प्रक्रिया में सहायता मिल सकती है। इसलिए मांसपेशियों के मजबूत विकास के लिए आपको अधिक खाने की आवश्यकता है.

1अधिक कार्ब्स:

कार्ब आहार जैसे पेलियो या कीटो हर किसी को सूट नही करते इसलिए मसल्स विकसित करने के दौरन अधिक कार्ब्स के सेवन से परहेज करे. जब आप बहुत अधिक मेहनत करते है तो आपको अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है आपका शरीर इसे कार्बोहाइड्रेट से ग्लूकोज के रूप में प्राप्त कर सकता है। कार्ब्स आपको अधिक वज़न उठाने के लिए मदद का सकते है. अगर आप अपने आहार में कार्ब्स को शामिल करना चाहते हो तो आप जटिल कार्बोहाइड्रेट जैसे जंगली चावल, मीठे आलू और स्टील-कटे हुए जई को शामिल कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ENGLISH