India के 10 सबसे ऊँचे वॉटरफॉल

India के 10 सबसे ऊँचे वॉटरफॉल
  • अथिरापल्ली झरना, केरल
  • जोग फॉल, कर्नाटक
  • दुधसागर झरना, गोवा
  • नूरनांग झरना, अरुणाचल प्रदेश
  • एलिफेंट फॉल, शिलांग
  • नोहकलिकाइ झरना, चेरापूंजी
  • भागसू झरना, हिमाचल प्रदेश
  • इरुप्पु झरना, कूर्ग
  • कोर्टलम झरना, तमिलनाडु
  • खंडाधार  झरना, ओडिशा

10अथिरापल्ली झरना, केरल:

अथिरापल्ली झरना चालकुड़ी नदी और शोलायर के क्षेत्र में स्थित सबसे लोकप्रिय आकर्षण पर्यटक स्थलों में से एक है. यह झरना आगुन्तको को आकर्षित करने वाला है. चलकुडी नदी में समुद्र तल से 1000 किमी ऊपर स्थित है। अथिरापल्ली झरने की तरफ जाते समय हरे भरे जंगल, ताड़ और नारियल के पेड़ों से सजी सड़क पर चलते हुए आपका थकना असम्भव है। यह झरना हरे भरे जंगल के बीच एक चरम प्राकृतिक सुंदरता का स्थान है.

9जोग फॉल, कर्नाटक:-

जोग झरना कर्नाटक के शिमोगा जिले में शरवती नदी पर स्थित है। कर्नाटक का यह झरना हमारे देश के सबसे ऊंचे झरनों में गिना जाता है। यह झरना कर्नाटक राज्य के प्रमुख पर्यटक स्थलों में से एक हैं और दक्षिण भारत के आकर्षण का केंद्र बना हुआ हैं। यह चार हिस्सों में 254 मीटर नीचे गिरता हैं। इन चारो झरनों को विभिन्न नामो से जाना जाता है जैसे राजा, रानी, राकेट और रोरर. यहा आप पिकनिक का आनंद ले सकते है. कर्नाटक की इस बेहतरीन खूबसूरती से आप अपनी आँखें नहीं हटा सकते हैं.

8दुधसागर झरना, गोवा:-

दुधसागर झरना भारत में 5 वां सबसे बड़ा और लोकप्रिय झरना है. यह 310 मीटर की ऊचाई से गिरता है. जब यह झरना इतनी ऊपर से गिरता है तो ऐसा प्रतीत होता है जैसे दूध की नदी बह रही हो इसलिए इसे दुधसागर कहा जाता है. इसके पानी का प्रवाह 4 भागों में विभाजित हो जाता है जो वास्तव में ही मंत्रमुग्ध कर देता है। यह स्थान हर साल कई पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है. यह झरना पर्यटकों द्वारा सबसे अधिक खोजे जाने वाला है.

7नूरनांग झरना, अरुणाचल प्रदेश:-

अरुणाचल प्रदेश अपने आप में कई हरी-भरी पहाडियों और झरनों को “अर्थात प्राकर्तिक सुंदरता को” में समेटे हुए है. नूरनांग झरना अरुणाचल प्रदेश की बेहतरीन जगहों में से के है. यह भारत के शानदार झरनों की सूची में शामिल है. इसमें 100 मीटर की ऊचाई से पानी गिरता है यह पानी एक सफ़ेद चादर की तरह प्रतीत होता है. अरुणाचल प्रदेश के विस्मयकारी खूबसूरती और मानसून के रमणीय प्रभाव के कारण हर एक झरना आपको आकर्षित करता है. यहाँ की यात्रा आपको निश्चित ही सुकून देगी.

6एलिफेंट फॉल, शिलांग:-

एलिफेंट फॉल शिलांग का एक सबसे चर्चित पर्यटन स्थल है, जो कई आगुन्तको को अपनी ओर आकर्षित करता है। इस झरने का स्थानीय नाम ‘का कशैद लाई पातेंग खोहस्यू’ है, जिसका मतलब है- तीन चरणों में पानी का गिरना। यह झरना तीन नदियों का विलय है जो क्रम में बहती है. इस झरने को एलिफेंट फॉल नाम ब्रिटिश अधिकारी ने दिया था क्योकि यह चट्टान हाथी के आकर की दिखती थी. इस झरने का नज़ारा आपको मंत्रमुग्ध कर देगा, साथ ही, यहा आप कई प्रजातियों के पेड़-पोधो को भी देख सकते है. यहा आप अपने दोस्तों और परिजनों के साथ शांति के पल बिता सकते हो. इस झरने का दौरा आपको एक बेहतरीन अनुभव देगा.

5नोहकलिकाइ झरना, चेरापूंजी:-

चेरापूंजी में स्थित नोहकलिकाइ झरना हमारे पूरे ग्रह पर दूसरा सबसे बड़ा झरना है. प्रकृति द्वारा चित्रित इस झरने का द्रश्य बहुत ही लुभावना है. पहले इस झरने को एक दूर के स्थान से देखा जाता था, लेकिन हाल ही में ऐसी सीढ़ियाँ बनाई गई है जो आपको झरने तक ले जाती हैं। यह स्थान पर्यटकों का सबसे पसंदीदा फोटोजेनिक स्थल है. इसकी खास बात यह है की यह झरना सर्दियों में नीला रहता है और गर्मियों के महीनों में हरा हो जाता है। यहाँ पर आप झरने की खूबसूरती निहारने के साथ-साथ स्थानीय व्यंजनों का भी आनंद ले सकते है.

4भागसू झरना, हिमाचल प्रदेश:-

हिमाचल प्रदेश अपने शांत परिवेश, जलवायु, हरियाली और बर्फ से ढके पहाड़ से हर साल कई पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है. जैसा की हम सब जानते है की हिमाचल प्रदेश भारत के सबसे खुबसूरत जगहों में से एक है. भागसू झरना हिमाचल के खुबसूरत द्रश्य का एक भाग है. यह झरना भगवान शिव को समर्पित है यह भागसूनाग मंदिर के पास भागसू गांव में स्थित है। झरने की यात्रा आपको तरोताजा कर देगी.

3इरुप्पु झरना, कूर्ग:-

इरप्‍पू झरना दक्षिण कर्नाटक के कूर्ग में ब्रह्मागिरि रेंज की पहाडि़यों में स्थित है. इरप्‍पू झरना भारत के सबसे बेहतरीन पर्यटन आकर्षणों में से एक है। इस झरने को आमतौर पर लक्ष्मण तीर्थ फॉल के नाम से जाना जाता है। यह झरना वन्य जीव अभयारण्‍य से चारो ओर घिरा हुआ सुंदर वातावरण के साथ एक शांत सनसनी प्रदान करती है। कर्नाटक में यह स्थान लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण का केंद्र है.

2कोर्टलम झरना, तमिलनाडु:-

कोर्टलम झरना तमिल नाडु राज्य के तिरुनेलवेली जिले के पश्चिमी घाट पर 160 मीटर की ऊंचाई पर स्थित  है. इसे कुट्टलाराम जलप्रपात के रूप में भी जाना जाता है. ऐसा कहते है की इस झरने के पानी से कई प्रकार की त्वचा संबंधी समस्याएं ठीक हो जाती है यहा तक की तंत्रिका संबंधी विकार भी ठीक हो जाते हैं. क्योकि इस झरने का पानी जंगल की जड़ी-बूटियों के बीच से निकलता हुआ आता है. यहाँ पर हर तरफ स्वास्थ्य रिसोर्ट्स भी जहा आप मालिश भी ले सकते है. इसी वजह से इस क्षेत्र का नाम ही दक्षिण भारत का स्पा पड़ गया है।

1खंडाधार  झरना, ओडिशा:-

खंडाधार  झरना भारत का 12 वां सबसे बड़ा झरना है. खंडाधार  झरना राउरकेला से 104 किमी दूर स्थित है। यह खूबसूरत और आकर्षक झरना 244 मीटर ऊंचा है और यह सुंदरगढ़ के जंगल में पड़ता है. यह झरना प्रकृति प्रेमियों के लिए एक आदर्श के रूप में माना जाता है. इसके आस-पास का क्षेत्र काफी हरा-भरा होने के कारण यह पर्यटकों को आकर्षित करता है.

यात्रा, व्यंजन, जीवनशैली, सामाजिक, मनोरंजन और अन्य विषयो पर आधारित महत्वपूर्ण और रोमांचक जानकारी के लिए Top10Things.co.in पर एक नज़र डाले।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ENGLISH